अपने संस्थान या अपने व्यवसाय के विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें ..... Mr. Ashutosh Tiwari, Mb.No- +91 7764822601, +91 8210600323

Rawan Dahan, Dihara

हर साल की भाँति इस साल भी शिवसागर प्रखंड कुम्हउ पंचायत के डीहरा गावँ में 50 फिट का विशाल रावण के पुतले का दहन एवं बाल झांकी का आयोजन दिनांक 8 अक्टूबर 2019 को संध्या 7 बजे किया गया है!

 जिसमे प्रखंड के बहुत लोग एस विशाल रावण के पुतले को देखने के लिए पहुँचते है !

 इस दहन एवं बाल झाँकी कार्यक्रम का आयोजन स्टूडेंट क्लब डीहरा के द्वारा किया गया, जिसका अध्यक्षता चंदन कुमार ने की! यहाँ हर साल दशहरा के उपलक्ष पर बाल झाँकी का आयोजन किया जाता है, जो नन्हे मुन्हे बच्चों द्वारा तैयार किया जाता है!

इन कलाकारों में मुख्या रूप से शशि कांत सिंह, राम भरत सिंह, आशुतोष तिवारी, दिनेश सिंह, सूर्यवंश सिंह, अजय सिंह, कमलेश सिंह, मनीष राय(यमुना), रमेश सिंह के अलावा अनेक बाल कलाकार शामिल है!



पायलट बाबा धाम बुद्ध प्रतिमा budhh pratima

भगवान बुद्ध की 80 फीट प्रतिमा का अनावरण माननिये मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने २३ जनवरी २०१७ को किया! देश में पहला भगवान् बुद्ध की इतनी बड़ी प्रतिमा पायलट बाबा धाम सासाराम (बिहार) में बना हुआ है! यहाँ पायलट धाम में सोमनाथ मंदिर का भी नज़ारा भक्तो को देखने के लिए भारी भीड़ लगती है, हालाकिं ये मंदिर अभी पूर्ण रूप से बना नहीं है! यहाँ भगवन शिव का १२० फीट ऊँची प्रतिमा भी अद्भुत देखने को मिलता है!
भगवान् बुद्ध की बड़े प्रतिमा के साथ उनके जीवन में घटित सभी घटनाओं का चित्रण किया गया है जो भक्तों को मनमुग्ध कर देती है!















सर्पदंश का ईलाज डिहरा में

सासाराम रोहतास जिले के शिवसागर प्रखंड में कुम्हाऊ रेलवे स्टेशन के नजदीक डिहरा एक छोटा सा गाव है!
यहाँ किसी भी प्रकार के सर्पदंश का ईलाज दैवीय शक्ति द्वारा निशुल्क की जाती है! ग्रामीणों के अनुसार अभी तक सर्पदंश का ईलाज कराने आये हुए कोई भी ऐसा नहीं है जो यहाँ से पूरी तरह ठीक हुये बगैर लौटा हो!

यहाँ ईलाज के लिए बहुत दूर दूर से लोग आते है! यहाँ के निवासी बताते है कि, बहुत पहले यहाँ नाग देव ने अवतार लिए थे! वह इस गाव में एक परिवार की सदस्य की तरह रहा करते थे!

कुछ दिनों के बाद कुछ लोग में मिलकर उन्हें मार दिया! दो तीन दिन बीत जाने पर वो दिखाई नहीं दिये तो गामीणों ने उनका तलाश शुरू की फिर नहीं मिले तो, एक रात उन्होंने एक स्वप्न दिखाया और बताया की मुझे किसी ने मार दिया है!

आप सब मेरा नाम लेकर किसी भी सर्पदंश से ग्रसित व्यक्ति को छु दोगे तो वह ठीक हो जायेगा! तब से यहाँ सर्पदंश का ईलाज किया जाता है!

आप यूट्यूब पर भी देख सकते है...  यूट्यूब पर देखने के लिए लिंक पे

यहाँ जाने का रास्ता  नीचे मैप में देखें ...


View Dihra in a larger map

ऐतिहासिक गुप्ताधाम में उमड़ा भक्तों का सैलाब

सावन माह की पहली सोमवारी पर ऐतिहासिक गुप्ताधाम स्थित गुप्तेश्वरनाथ को जलाभिषेक के रोहतास। सावन माह की पहली सोमवारी पर ऐतिहासिक गुप्ताधाम स्थित गुप्तेश्वरनाथ को जलाभिषेक के लिए भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। हर-हर महादेव के जयघोष से कैमूर की वादी गुंजायमान हो उठी। आज लगभग 70 हजार श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक किया। गुप्ताधाम गुफा में गैस की कमी के कारण दो दर्जन से अधिक को बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया।

धाम से लौटे रहे गाजीपुर (यूपी) के जामनिया निवासी विनोद जायसवाल, अजय जायसवाल, ¨रकु कुमार, बक्सर के मनोज कुमार, बेदू कुमार आदि ने बताया कि इतने बड़े मेला के बावजूद धाम पर प्रशासन की ओर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इस बार एक भी आक्सीजन सिलेंडर गुप्ता में नहीं होने से काफी गैस हो गई थी। जिससे काफी संख्या में श्रद्धालु सांस फुलने से बेहोश हो रहे थे।

धाम पर स्वास्थ्य शिविर भी नहीं लगा है। जिससे ऐसे लोगों को इलाज की कोई सुविधा भी नहीं मिल पा रही है। श्रद्धालु बाबा भोलेनाथ के सहारे उनके दर्शन पूजन का लाभ प्राप्त कर रहे हैं। गुफा में प्रकाश की भी व्यवस्था नहीं है। पीने के पानी की भी समस्या बनी हुई है। मात्र दो चापाकल चालू हालत में है। जिस पर पानी लेने के लिए लोगों के बीच धक्का मुक्की हो रही है। गौरतलब हो कि पूर्व में यहां प्रशासन की ओर से आक्सीजन सिलेंडर, प्रकाश के लिए जेनरेटर की व्यवस्था तथा चिकित्सा शिविर भी लगाया जाता था। परंतु कैमूर पहाड़ी को अभ्यारण्य घोषित किए जाने के बाद विगत चार-पांच वर्षों से प्रशासन च्े सेंच्यूरी एरिया का हवाला दे यहां की व्यवस्था से अपना हाथ ¨खच लिया है।

Source: Jagaran